CM विष्णुदेव बोले, आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों होगा पुनरुत्थान! इधर ‘विजय शर्मा’ ने लिखे बंदूक की नली से ‘विकास’ संभव नहीं

By : madhukar dubey, Last Updated : May 15, 2024 | 2:58 pm

  • नक्सल नीति का पड़ रहा है सकारात्मक प्रभाव:मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय बोले- नक्सलियों द्वारा बंदूक छोड़ना हर्ष का विषय
  • रायपुर। छत्तीसगढ़ में साय सरकार की आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर नक्सली लगातार बंदूक छोड़कर समाज की मुख्य धारा में लौट रहे हैं। बीजापुर जिले में 30 नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण (Surrender by 30 Naxalites) किए जाने पर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय (Chief Minister Vishnudev Sai) ने खुशी जताई है। उन्होंने आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों के पुनरुत्थान के लिए कार्य करने की बात कही है।

    • अपने सोशल मीडिया हैंडल पर उन्होंने लिखा है कि अत्यंत हर्ष का विषय है कि माओवादियों की विचारधारा से क्षुब्ध होकर और छत्तीसगढ़ शासन की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर बीजापुर के 30 माओवादियों ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया है। इनमें से कई ईनामी माओवादी भी शामिल हैं।

    बंदूक की नली से विकास का प्रकाश नहीं हो सकता: शर्मा

    • गृहमंत्री विजय शर्मा ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर लिखा है-बंदूक की नली से विकास का प्रकाश नहीं हो सकता। इस बात को अब नक्सल विचारधारा से जुड़े बस्तर के भटके हुए लोग भी समझने लगे हैं। हमारी सरकार की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर हिंसा का रास्ता छोड़कर समाज की मुख्य धारा में लौटने लगे हैं। समाज की मुख्यधारा में इनका स्वागत है।

    यह भी पढ़ें : खुद की दलीलों में फंसे ‘मेयर ढेबर’! अब हो रही सोशल मीडिया में फजीहत-BJP को मिला बड़ा सियासी हथियार

    यह भी पढ़ें :संयुक्त पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी : एक इनामी सहित 5 नक्सली गिरफ्तार